53 episodes

Qissagoi (Kissagoi) is a Hindi story podcast hosted by (Sacred Games fame) Dastango Himanshu Bajpai. Himanshu is well known for his storytelling craft and has performed worldwide. His first book 'Qissa Qissa Lucknowaa' was published in 2019 which brought a series of amazing and never-told-before stories from the city of Lucknow. Qissagoi is a compilation of amazing pieces of literature in the form of famous anecdotes, stories and fables from folklore and history.

क़िस्से, हमें हमारे समाज के, समय के, लोगों के, दुनिया के और जीवन के क़रीब लाते हैं. और इसीलिए क़िस्से सुने और सुनाए जाने चाहिए. तो लखनऊ के नवाबी नहीं, अवामी क़िस्से सुनिए दास्तानगो और लेखक हिमांशु बाजपेई से, जो कहानी कहने के अपने सलीक़े के लिए मशहूर हैं. दास्तानगो हिमांशु बाजपेई के साथ सुनिए क़िस्सागोई, आज तक रेडियो पर.

Qissagoi Aaj Tak Radio

    • Arts

Qissagoi (Kissagoi) is a Hindi story podcast hosted by (Sacred Games fame) Dastango Himanshu Bajpai. Himanshu is well known for his storytelling craft and has performed worldwide. His first book 'Qissa Qissa Lucknowaa' was published in 2019 which brought a series of amazing and never-told-before stories from the city of Lucknow. Qissagoi is a compilation of amazing pieces of literature in the form of famous anecdotes, stories and fables from folklore and history.

क़िस्से, हमें हमारे समाज के, समय के, लोगों के, दुनिया के और जीवन के क़रीब लाते हैं. और इसीलिए क़िस्से सुने और सुनाए जाने चाहिए. तो लखनऊ के नवाबी नहीं, अवामी क़िस्से सुनिए दास्तानगो और लेखक हिमांशु बाजपेई से, जो कहानी कहने के अपने सलीक़े के लिए मशहूर हैं. दास्तानगो हिमांशु बाजपेई के साथ सुनिए क़िस्सागोई, आज तक रेडियो पर.

    शहीद चंद्रशेखर आज़ाद की भविष्यवाणी जब सच हुई : क़िस्सागोई Ep 53

    शहीद चंद्रशेखर आज़ाद की भविष्यवाणी जब सच हुई : क़िस्सागोई Ep 53

    स्पेशल सीरीज़ ‘क़िस्सागोई’ में आपको लखनऊ समेत दुनिया जहान के किस्से सुनाएंगे. ये कहानियां आप तक पहुंचाएंगे ‘क़िस्सा-क़िस्सा लखनउवा’ किताब के लेखक और मशहूर दास्तानगो हिमांशु बाजपेयी. आज की सीरीज़ में किस्सा भारत के क्रांतिकारियों का. जिन मशहूर क्रांतिकारियों को हम कहानियों में पढ़ते सुनते आए हैं उनका मानवीय पक्ष भी था. आपस में भगत सिंह, राजगुरु, सुखदेव और आज़ाद भी हंसी मज़ाक किया करते थे. और मज़ाक-मज़ाक में आज़ाद ने एक बार ऐसी भविष्यवाणी की जो सच हो गई.

    • 4 min
    निराला ने रेडियो एंकर का गला क्यों पकड़ लिया? : क़िस्सागोई Ep 52

    निराला ने रेडियो एंकर का गला क्यों पकड़ लिया? : क़िस्सागोई Ep 52

    स्पेशल सीरीज़ ‘क़िस्सागोई’ में आपको लखनऊ समेत दुनिया जहान के किस्से सुनाएंगे. ये कहानियां आप तक पहुंचाएंगे ‘क़िस्सा-क़िस्सा लखनउवा’ किताब के लेखक और मशहूर दास्तानगो हिमांशु बाजपेयी. आज की सीरीज़ में किस्सा महाकवि सूर्यकांत त्रिपाठी निराला का. जब ऑल इंडिया रेडियो के कई जगह दफ़्तर बने तब ज्यादातर उर्दू के एंकर हुआ करते थे जिन्हें हिंदी की बिल्कुल समझ नहीं थी. ऐसे में हिंदी के लोगों ने ख़ासकर साहित्यकारों ने रेडियो में जाने से परहेज़ रखा था. लेकिन जब एक बार निराला गए तो क्या हुआ ख़ुद सुनिए

    • 5 min
    कहानियां तो कहानियां ही होती हैं, हक़ीक़त से भी हक़ीक़ी : क़िस्सागोई Ep 51

    कहानियां तो कहानियां ही होती हैं, हक़ीक़त से भी हक़ीक़ी : क़िस्सागोई Ep 51

    स्पेशल सीरीज़ ‘क़िस्सागोई’ में आपको लखनऊ समेत दुनिया जहान के किस्से सुनाएंगे. ये कहानियां आप तक पहुंचाएंगे ‘क़िस्सा-क़िस्सा लखनउवा’ किताब के लेखक और मशहूर दास्तानगो हिमांशु बाजपेयी. आज की सीरीज़ में किस्सा मशहूर हास्य कवि बेढब बनारसी का. क़िस्से अपने आपमें जो कहना चाहते हैं वो हम शायद ही कभी सुन पाते हैं. इस क़िस्से में ऐसा बहुत कुछ है जिसे सुना और सुनाया जाना चाहिए. सुनना और गुनना भी बहुत ज़रूरी है. सीखने के लिए शायद सुनना इसीलिए बहुत ज़रूरी है. सुनिए

    • 3 min
    गांधी जी ने एक पैसे की नीलामी से ढेरों रुपए कैसे पाए? : क़िस्सागोई Ep 50

    गांधी जी ने एक पैसे की नीलामी से ढेरों रुपए कैसे पाए? : क़िस्सागोई Ep 50

    स्पेशल सीरीज़ ‘क़िस्सागोई’ में आपको लखनऊ समेत दुनिया जहान के किस्से सुनाएंगे. ये कहानियां आप तक पहुंचाएंगे ‘क़िस्सा-क़िस्सा लखनउवा’ किताब के लेखक और मशहूर दास्तानगो हिमांशु बाजपेयी. आज की सीरीज़ में किस्सा महात्मा गांधी का. जब देश स्वतंत्रता की लड़ाई लड़ रहा था तब गांधी इस आन्दोलन की आर्थिक ज़रूरतें कैसे पूरी कर रहे थे? इसके लिए समाज पूरी तरह से गांधी के साथ खड़ा था. गांधी की एक पुकार पर लोग धन देने को तैयार रहते थे. लेकिन एक बार गांधी ने एक पैसे से भी ख़ूब धन बना लिया. कैसे ख़ुद सुनिए

    • 5 min
    भारत में संस्कृत विषय का प्रिंसिपल बना ये विदेशी शख्स : क़िस्सागोई Ep 49

    भारत में संस्कृत विषय का प्रिंसिपल बना ये विदेशी शख्स : क़िस्सागोई Ep 49

    स्पेशल सीरीज़ ‘क़िस्सागोई’ में आपको लखनऊ समेत दुनिया जहान के किस्से सुनाएंगे. ये कहानियां आप तक पहुंचाएंगे ‘क़िस्सा-क़िस्सा लखनउवा’ किताब के लेखक और मशहूर दास्तानगो हिमांशु बाजपेयी. आज की सीरीज़ में किस्सा मशहूर विद्वान ग्रिफ़िथ साहब का. विदेशी होने के बाद भी भारत की सांस्कृतिक धरोहर के लिए उन्होंने जितना किया वो शायद ही कोई कर सका हो. ग्रिफ़िथ साहब ही थे जिनकी वजह से वेदों का शुरुआती तर्जुमा अंग्रेज़ी में हो सका. ग्रिफिथ साहब को मानस पूरी तरह कंठस्थ थी. उनके मानस प्रेम का एक मज़ेदार किस्सा सुनिए

    • 3 min
    मोहम्मद रफ़ी से ये प्यारी शिकायत थी इस एक्टर को : क़िस्सागोई Ep 48

    मोहम्मद रफ़ी से ये प्यारी शिकायत थी इस एक्टर को : क़िस्सागोई Ep 48

    स्पेशल सीरीज़ ‘क़िस्सागोई’ में आपको लखनऊ समेत दुनिया जहान के किस्से सुनाएंगे. ये कहानियां आप तक पहुंचाएंगे ‘क़िस्सा-क़िस्सा लखनउवा’ किताब के लेखक और मशहूर दास्तानगो हिमांशु बाजपेयी. आज की सीरीज़ में किस्सा सुनिए मोहम्मद रफ़ी का. फ़िल्म इंडस्ट्री में जब उनके बारे में कहीं कोई बुराई नहीं सुनने में आती थी तब उनके बारे में एक प्यारी सी शिकायत आई. क्या थी वो शिकायत ख़ुद सुनिए

    • 4 min

Top Podcasts In Arts

NPR
WaitWhat
Avery Trufelman
The Moth
Blind Nil Audio and Pod People
Roman Mars

More by Aaj Tak Radio

Aaj Tak Radio
Aaj Tak Radio
Aaj Tak Radio
Aaj Tak Radio
Aaj Tak Radio
Aaj Tak Radio