290 episodes

Nyaaya is an open access, digital resource that provides Simple, Actionable, Recallable and Authoritative Legal (SARAL) information to young Indians, helping them solve day-to-day legal problems so that they are aware of their rights and feel empowered to seek justice.

This channel contains audio files of our law explainers.

Nyaaya.org Nyaaya India

    • Business

Nyaaya is an open access, digital resource that provides Simple, Actionable, Recallable and Authoritative Legal (SARAL) information to young Indians, helping them solve day-to-day legal problems so that they are aware of their rights and feel empowered to seek justice.

This channel contains audio files of our law explainers.

    बिना जमानत के, कारावास का अधिकतम सीमा Maximum Jail Time Without Bail

    बिना जमानत के, कारावास का अधिकतम सीमा Maximum Jail Time Without Bail

    जमानत एक अपराध के आरोपी व्यक्ति की अदालत द्वारा अस्थायी रिहाई है। न्यायालय आरोपी व्यक्ति को इस शर्त पर जेल से बाहर रहने की अनुमति देता है कि वे जब भी आवश्यक हो न्यायालय के समक्ष पेश होंगे और कोई अपराध नहीं करेंगे। ज्यादातर मामलों में जहां जमानत दी जाती है, एक राशि या संपत्ति को अदालत में इस गारंटी के रूप में जमा करना पड़ता है कि व्यक्ति जब भी आवश्यक हो, अदालत में वापस उपस्थित हो। इस विषय पर अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए इस ऑडियो व्याख्याता को सुने।

    • 1 min
    आरोप पत्र Chargesheet

    आरोप पत्र Chargesheet

    किसी आपराधिक जुर्म की सूचना प्राप्त होने के बाद पुलिस द्वारा तैयार की गई लिखित दस्तावेज, प्रथम सूचना रिपोर्ट (एफआइआर) होती है। यह जुर्म के शिकार व्यक्ति द्वारा, या उसकी तरफ से किसी अन्य व्यक्ति द्वारा दर्ज कराई गई शिकायत होती है और इससे ही आपराधिक न्याय की प्रक्रिया की शुरुआत होती है। इस विषय पर अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए इस ऑडियो व्याख्याता को सुने।

    • 2 min
    यदि कोई पुलिस अधिकारी आपका एफआईआर दर्ज करने से इन्कार करता है तो इसकी शिकायत कहां करें Where to complain when pol

    यदि कोई पुलिस अधिकारी आपका एफआईआर दर्ज करने से इन्कार करता है तो इसकी शिकायत कहां करें Where to complain when pol

    किसी आपराधिक जुर्म की सूचना प्राप्त होने के बाद पुलिस द्वारा तैयार की गई लिखित दस्तावेज, प्रथम सूचना रिपोर्ट (एफआइआर) होती है। यह जुर्म के शिकार व्यक्ति द्वारा, या उसकी तरफ से किसी अन्य व्यक्ति द्वारा दर्ज कराई गई शिकायत होती है और इससे ही आपराधिक न्याय की प्रक्रिया की शुरुआत होती है। इस विषय पर अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए इस ऑडियो व्याख्याता को सुने।

    • 33 sec
    महिला से संबंधित अपराधों के लिए एफ़आईआर दर्ज करना FIR filed for women related offences

    महिला से संबंधित अपराधों के लिए एफ़आईआर दर्ज करना FIR filed for women related offences

    किसी आपराधिक जुर्म की सूचना प्राप्त होने के बाद पुलिस द्वारा तैयार की गई लिखित दस्तावेज, प्रथम सूचना रिपोर्ट (एफआइआर) होती है। यह जुर्म के शिकार व्यक्ति द्वारा, या उसकी तरफ से किसी अन्य व्यक्ति द्वारा दर्ज कराई गई शिकायत होती है और इससे ही आपराधिक न्याय की प्रक्रिया की शुरुआत होती है। इस विषय पर अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए इस ऑडियो व्याख्याता को सुने।

    • 1 min
    एफ़आईआर कहां दर्ज की जा सकती है Where can an FIR be filed

    एफ़आईआर कहां दर्ज की जा सकती है Where can an FIR be filed

    किसी आपराधिक जुर्म की सूचना प्राप्त होने के बाद पुलिस द्वारा तैयार की गई लिखित दस्तावेज, प्रथम सूचना रिपोर्ट (एफआइआर) होती है। यह जुर्म के शिकार व्यक्ति द्वारा, या उसकी तरफ से किसी अन्य व्यक्ति द्वारा दर्ज कराई गई शिकायत होती है और इससे ही आपराधिक न्याय की प्रक्रिया की शुरुआत होती है। इस विषय पर अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए इस ऑडियो व्याख्याता को सुने।

    • 1 min
    एफआइआर कैसे दर्ज करें How to file an FIR

    एफआइआर कैसे दर्ज करें How to file an FIR

    किसी आपराधिक जुर्म की सूचना प्राप्त होने के बाद पुलिस द्वारा तैयार की गई लिखित दस्तावेज, प्रथम सूचना रिपोर्ट (एफआइआर) होती है। यह जुर्म के शिकार व्यक्ति द्वारा, या उसकी तरफ से किसी अन्य व्यक्ति द्वारा दर्ज कराई गई शिकायत होती है और इससे ही आपराधिक न्याय की प्रक्रिया की शुरुआत होती है। इस विषय पर अधिक जानकारी प्राप्त करने के लिए इस ऑडियो व्याख्याता को सुने।

    • 2 min

Top Podcasts In Business